Skip to main content

Camera ka Bhoot - फ़ोटो में कैद प्रेत का आतंक

          ये वो दिन की बात है जब राकेश के पर फोटोग्राफर बनने का भूत सवार था। उसने अपने पापा से झगड़ा करके पैसे ले लिया और नया केमेरा खरीद लिया। उस समय में अपनी आस-पास दिखती हुई हररेख चीज और मनुष्य, प्राणी वगेरे की फ़ोटो खिचता रहता था और अपने आप को प्रोफेशनल फोटोग्राफर समज ने लगा। लेकिन मेरी हालात तब ख़राब हुई जब मेरे केमेरा में एक भयानक डराने वाला प्रेत कैद हुआ।
 
          पहले तो मुझे लगा की ये सिर्फ black & white फ़ोटो है। लेकिन जब ध्यान से देखा तो मेरे रूवांटे खड़े हो गए क्योंकि उसमें मुझे कुछ आछि सी दो आँखे दिख रही थी और वो आँखे गुस्से से मेरे केमेरा के सामने देख रही थी। डर के कारन मैंने वो फ़ोटो को तुरंर ही delete कर दिया और केमेरा को कबट में रह दिया।

          करीबन रात को २ बजे के आस पास कबाटमे से धिरे धिरे आवाज सुनाने लगा। में बहुत ही डर गया और डरते डरते मेने कबाट का दरवाजा खोल तो देखा की केमेरा कवर मेंसे बहार आ गया था और केमेरे ने मेरे सामने लेन्स कर के फ़ोटो click कर दिया। ये एक बहुत ही डराने वाली घटना थी। में तुरंत ही भाग के अपने रुम से बहार निकल गया और घर के सारे सभ्यो को जगा दिया। ये पूरी घटना सुनके पापा मेरे रुम में गए और केमेरा check करने लगे लेकिन मेरा कोईभी फ़ोटो दिखाई नहीं दिया। पापा ने ये देख कर मुझे कहा की ये सिर्फ तेरा भ्र्म है। मुझे भी लगा की ये मेरा भ्र्म ही है।

          दूसरे दिन दोपहर मे में नदी के तट पे बैठ के केमेरा से फ़ोटो खींच रहा था। बाद मे फ़ोटो खींच लेने के बाद केमेरा मे फ़ोटो देख ने लगा उसमे मेने देखा की वो जो फ़ोटो मेने delete कर दिया था वही भयानक फ़ोटो मेरी memory में फिर से आ गया था। उसे देख कर में बहुत ही डर गया और तुरंत ही उसी फ़ोटो को फिर से delete कर दिया। जब मेने बाकी के फ़ोटो देखा तो मेरे पैर थदथड़ काँपने लगे। आप सोच भी नहीं पाउनंगे के उसमे क्या था?

          ये वही फ़ोटो था जिसके बारे मे मेने अपने पापा से बात की थी। और वही फ़ोटो मे मेरे पीछे लाल रंग की आँखे वाला प्रेत खड़ा था। इस time पे मेने वो फ़ोटो delete नहीं किया लेकिन इसके अलावा बाकि के सारे फ़ोटो delete कर दिए। और तुरंत ही केमेरा लेके सीधा पापा को दिखाने के लिए गया।

          लेकिन आश्चर्य की बात तो यह थी की जब मेने पापा को केमेरे की memory दिखाई तो वह पूरी तरह से खाली थी। उस दिन मेरे पापा मुझपे काफी गुस्सा हुए। और मुझे बोले की अगर तुजे ये केमेरा पसंद नहीं हे तो उसे फेंक दे या फिर बेच दे लेकिन ऐसी बेवकूफ वाली बाते लेकर मेरे पास मत आ।

          दुसरे दिन रात को फिर से मेरे साथ डर का आतंक शुरू हो गया। अब तो धीरे धीरे बंध कबट मेंसे फ़ोटो click की आवाज आने लगी। मुझे पता था की ये कोई मेरा भ्रम नहीं है। क्यूंकी में परलौलिक घटनाओ को नहीं मानने वाला एक संपूर्ण नास्तिक मानस हु।

          सुबह मेने हिम्मत करके केमेरा बहार निकाला और फिर से memory देख ने लगा। उसमे कोईभी भूत का फ़ोटो नहीं था लेकिन एक काली फ्रेम वाला फ़ोटो मिला जिसमे लिखा था की..... "मुजको कैद करने भूत की उसकी सजा...तुजे तेरी जान देनी पड़ेगी।"

          ये फ़ोटो देखकर मेरे तो हौंस ही उड़ गए। मेरी धड़कन एकदम से ही बढ़ गई। मुझे ये भी पता था की ये धमकी वाला फ़ोटो अगर किसीको दिखने के लिए भी जाउगा उससे पहले memory से delete हो जाएगा। 45000 Rs मे ख़रीदा हुआ केमेरा मेने 20000 Rs मे बेच दिया। मुझे नहीं पता था की आखिर किस तारीखे से वो भूत मेरे केमेरे मे कैद हो गया। लेकिन वो भूत यही समज रहा होगा की मेने उसे जानबुज के केमेरे मे कैद कर दिया। अब मुझे तो photography और केमेरे से डर लगने लगा की कंही वो केमेरे वाला भूत मुझे मार तो नहीं देगा?

Comments

Popular posts from this blog

The voice that echoed in our house - हमारे घर में गूँजती हुई वो आवाज़ - छन छन छन

यह बात उन दिनों की है जब मैं नवमी कक्षा में पढ़ता था। तब मेरी उम्र 14 साल थी। कुछ समय में अपनी फैमिली के साथ रहता था, मेरी फैमिली में मम्मी पापा और मेरी छोटी बहन भी थी। मेरे पापा गवर्नमेंट की नौकरी करते थे इसलिए हमें सरकारी क्वाटर्स में रहना पड़ता था। जब मेरे पापा का प्रमोशन हुआ था तब हम ने उस कॉलोनी में एक बड़ा सा फ्लैट ले लिया। उसके बाद हम नए फ्लैट में शिफ्ट हो गए मैं बहुत ही खुश था, क्योंकि मैं सोच रहा था कि मैं अपना एक अलग से कमरा लूंगा।

पता नहीं क्यों जिस दिन से हम उस घर में रहने के लिए गए थे तब से मुझे उस घर में अजीबोगरीब बेचैनी महसूस हो रही थी। उस घर में मुझे देर से सोने की आदत थी क्योंकि हमारा TV चैनल वाला हर रात को एक नई फिल्म दिखाता था। और मेरे मम्मी पापा और बहन दूसरे कमरे में जल्द सो जाते थे। शुरु शुरु में तो सब कुछ ठीक था लेकिन अचानक मुझे एक रात को जब मैं अपने बेड पर बैठकर मूवी देख रहा था तो अचानक मुझे रूम के बाहर से किसी की आवाज सुनाई दी मुझे लगा कि मम्मी यहां पानी पीने के लिए उठी होगी। मैंने ध्यान नहीं दिया हां लेकिन मैंने TV का आवाज थोड़ा धीमा कर दिया लेकिन 4-…

पत्नी का भूत - Real Ghost Story in Hindi

पत्नी का भूत - Real Ghost Story in Hindi :
      आत्मा और भूतो की दुनिया बहोत ही रहस्यमय है। जिसका उनके साथ सामना होता है केवल वोही लोग मानते हे की आत्मा और भूत का इस दुनिया में वजूत है। और जो लोगो का उनके साथ सामना नहीं होता हे वे लोग सिर्फ़ उन्हें काल्पनिक ही मानते है, खैर जो भी हो। लेकिन भूत-प्रेत और आत्माओ का वजूत ही नहीं हे ऐसा बोल के उनका मजाक बनाने का कोई सबूत ही नहीं मिला है।

     कभी कभी ऐसी भी घटनाए भी सामने आई जो की अशरीरी आत्मा ओ का वजूत मानने को मजबूर कर देता है। विज्ञानं भी ये विषय पे परिक्षण कर रहा हे और ऐसे भी परिणाम सामने आए है जो बताते हे की मृत्यु बाद भी आत्मा ओ का अस्तित्व रहता है और वो कभी भी अपनी ईच्छा से प्रगट और अदृश्य हो जाते है।

     ये कहानी भी कुछ ऐसी ही है।

     ये कहानी लुधियाना शहर के एक रहवासी की है। वो अपने बिज़नेस के काम से पूर्व अफ्रिका की राजधानी नैरोबी मे जाके रहने लगा। एकबार उसकी पत्नी अफ्रीका से पंजाब वापस आई और अचानक से उसको दिलका दौरा पड़ा इसीलिये उसकी हालत बहुत ही गम्भीर हो गई।

     डॉक्टर्स ने भी उसको बचाने का बहुत ही प्रयास किया लेकिन वो नाक…

Meri Sautan ki Atma - मेरी सौतन की आत्मा

अनामिका शर्मा जो एक सामाजिक कार्यकर्ता, उसकी शादी पटना मैं हुई थी। शादी के दो साल मैं ही उसका तलाक हो गया था। अब वो अपने माता पिता के साथ पुणे मैं ही रहती है और वो एक संस्था के साथ जुड़ी हुई है जो घरेलु हिंसा के शिकार होने वाली महिलाओ की सहाय करती है। शादी तुटने से कोईभी महिला खुश नहीं रहती है लेकिन शादी करके जुलम सहने से अच्छा है कि हम अकेले ही रहे।

आज में आप को एक भयानक रहस्य बताती हु की जिस बजह से मेरा तलाक हुआ था। वैसे तो मेरे पति मेरा बहोत ही अच्छा ख्याल रखते है लेकिन जब उनको गुस्सा आता है तो वो एक अजीब इंसान बन जाते है, उनकी आवाज भी भारी हो जाती है। लेकिन मुझे ऐसा लगता था कि उनके गुस्से की बजह से उनके अंदर ऐसा बदलाव आ जाता है, लेकिन ऐसा बिल्कुन नहीं था। उनके ऐसे भयानक रूप के पीछे की सच्चाई कुछ और ही थी।

एक रात को में और मेरे पति सो रहे थे वंही पे अचानक मुझे महसूस हुआ की मेरे पति लंबी लंबी साँसे ले रहे थे, और नींद मैं ही बोल रहे थे की मुझे माफ़ करो, अब बस करो, अब बस करो, मुझे अब छोड़ दो, जो भी हुआ है उसमें मेरा कुछ भी कसूर नहीं है। यह सब सुनके तो मेरे रुवाटे खड़े हो गए। मैंने त…